Diwali Message




“ हो मुबारक ये त्यौहार आपको दीपावली का ज़िन्दगी का हर पल मिले आपको खुशहाली का प्यार के जुगनू जले, प्यार की हो फुलझड़िया प्यार के फूल खिले, प्यार की हो पंखुड़िया प्यार की बंसी बजे, प्यार की हो शहनाईया… खुशियो के दीप जले, दुःख कभी न ले अंगड़ाईयां ”

हर घर में दिवाली हो, हर घर में दिया जले जब तक ये रहे दुनिया जब तक संसार चले दुःख, दर्द, उदासी से हर दिल महरूम रहे पग पग उजियालो में जीवन की ज्योति जले दिवाली मुबारक हो दोस्तों

रोशन हो दीपक और सारा जग जगमगाये लिए साथ सीता मैय्या को राम जी हैं लाये हर शहर यूँ लगे मानो अयोधया हो आओ हर द्वार हर गली हर मोड़ पे हम दीप जलाये Shubh Deepavali

Diyon ki roshni se jhilmilata aangan ho, Patakhon ki goonjo se aasman roshan ho, Aisi aaye jhoom ke yeh diwali, Har taraf kushiyon ka mausam ho……!!!! Diwali Ki Shubh Kamnayein

Diwali k deepak jag-magaye apke aangan me, Saat rang saaje es saal aap ke aangan mein.. Aaya hain yeh tyohaar kushiyan leke….. Har kushi saaje es saal aapke aangan mein. Roshni se ho roshan har lamha aap ka, Har Roshni saaje es saal aapke aangan mein. Dua hum karte hain aap salamat rahe, Har dua saaje es saal aap ke aangan mein….! Happy Deepavali

रोशन हो दीपक ओर सारा जग जगमगाए, लिए साथ सीता मैया को राम जी हैं आए, हर शहर यू लगे मानो अयोध्या हो, आओ हर द्वार हर गली हर मोड़ पर हम दीप जलाए!!

आपके यहा दौलत की बारिश हो, माता लक्ष्मी जी का वास हो, दुखो का नाश हो, सभी के दिलो पर आपका राज़ हो, सफलता का आपके सिर पर ताज़ हो!!

इस दिवाली एक दुआ माँगते हैं हम अपने भगवान से, चाहते है आपकी खुशी पूरे ईमान से, सब हसरतें पूरी हो आपकी, और आप मुस्काराएँ दिल-ओ-जान से!!

फूल की शुरुआत कली से होती है, ज़िंदगी की शुरुआत प्यार से होती है, प्यार की शुरुआत अपनो से होती है और अपनो की शुरुआत आपसे होती है. *Happy Diwali*

चलो घर घर बांटे खुशी, ना रहे आज कोई हाथ खाली, दीप जले और दिल से दिल मिले, हर मन को मिले खुशहाली, आज दफ़्तर बंद है, चलो सब से मिलने, कुछ तीखा-कुछ मीठा और एक चाय की प्याली, बचपन सा लगे ये दिन जब हो साथ सारे बैठे तू जिस डाली में भी बेठू उस डाली!! *Wish You Happy Diwali*

खुशी का तक़ाज़ा आगाज़ दे रहा है, वो दीपावली का दीपक आवाज़ दे रहा है, मुबारक हो आपको दीपावली की खुशिया, ये दिल आपको सबसे पहले (दिल से) मुबारकबाद दे रहा है!!



रंगोली के रंगो जैसे, भर जाए रंग तुम्हारी जिंदगी में, रोशनी होती है दीवाली पर जितनी, उतनी खुशिया हो तुम्हारे जीवन में!!

दीवाली के दिन अजीब बात हो गयी, वो बात कुछ खास ऐसे हो गयी, एक हसीना से मुलाकात हो गयी, मुस्कान उसकी मुझको भा गयी, उसकी आवाज़ लुभा सी गयी, कानो में मिठास घुल सी गयी, जलता दिया हाथ मे लिए पास आई, मुबारक हो दीवाली कह के वो गयी!!

दीपों का उजाला, पठाको का रंग, धूप की खुश्बू, प्यार भारी उमंग, मिठाई का स्वाद, अपनो का प्यार, मुबारक हो आपको, दीपावली का त्योहार!! !!Wish You A Very Happy Deepavali!!

दीवाली की शाम तेरे इंतज़ार रहेगा, मेरा दिल तेरे लिए बेकरार रहेगा. देख लू बस एक नज़र तुम को, तभी ये त्योहार मेरे लिए दीवाली का त्योहार रहेगा!!

दीवाली तुम भी मनाते हो, दीवाली हम भी मनाते है, बस फ़र्क़ सिर्फ़ इतना है की, हम दिए जलाते हैं, और तुम दिल जलाते हो!!

म क्यू ऐसे खोई-खोई सी रहती हो, तुम क्यू ऐसे गुमसुम सी रहती हो, कोनसा गम है तुम्हे जो सबसे छिपाती हो, किसलिए हर बात पर अपना जी जलाती हो, क्यू आज तक तुमने किसी को अपना बनाया नही, क्यू तुम्हे किसी ने हसना सिखाया नही, एक बार मुस्कुराने से कोई गुनाह नही हो जाएगा, हाल-ए-दिल सुनने से कोई क़यामत नई आ जाएगी, आए मल्लिका-ए-हुस्न एक बार इधर भी तो देख, मेरी अगर ईद होगी तो तेरी भी दीवाली हो जाएगी!!

आया है रोशनी का ये त्योहार, संग लाया हर चेहरे पर मुस्कान, सुख और समृद्धि की बहार, समेट लो सारी खुशियाँ, अपनो का साथ और प्यार, इस पवन अवसर पर, आपको दीवाली का प्यार!!

रोशनी भी होगी, होंगे चिराग भी आवाज़ भी होगी, होंगे साज़ भी पर ना होगी उसकी परछाई, ना उसकी आहट बहोत सूनी होगी यह दीवाली बिन सनम कैसे मिलेगी मुझे राहत!!

पल पल से बनता है एहसास, एहसास से बनता है विश्वास, विश्वास से बनते है रिश्ते, और रिश्ते से बनता है कोई खास, रहो आप सदा मेरे दिल के पास!!

चारो और है धूम, क्यों की दीवाली है आई, खुश रहो और अपनो को खुश करो, आपको और आपके संपूर्ण परिवार को, दीवाली की हार्दिक बधाई!!

शेर छुप कर शिकार नही करते, अपने कभी खुल कर “वार” नही करते, “हम” वो “किंग हैं” जो हैप्पी Diwali कहने के लिए, दीवाली के दिन का “इंतेज़ार” नही करते!!

फूल्झड़ी, पटाखे खूब चलाएँ, सोते हुओ की नींद उड़ाएँ, लक्ष्मी जी देंगी छप्पर फाड़ कर, इसलिए दरवाजा खुला रखकर सो जाएँ, शुभ दीवाली!!

होठो पे हँसी, आँखों मैं खुशी गम का कही नाम न हो, ये “दीवाली” लाए, आप की ज़िंदगी मैं इतनी खुशियां, जिसकी कभी शाम ना हो!!

तमाम जहान जगमगया, फिर से त्यौहार रोशनी का आया, कोई तुम्हे हमसे पहले ना देदे बधाइयाँ, इसलिए, ये पैगाम ए मुबारक सबसे पहले हमने भिजवाया, “दीवाली मुबारक”

हर बच्चे के चेहरे पर दिखे रोनक, और बडो क चेहरे पर लाली होनी चाहिए, कोई भी शख्स ना रूठे इस बार, किसी की भी जेब ना खाली होनी चाहिए, सिर्फ़ अमीरो की नही एस बार, ग़रीबो की भी आँखे मतवाली होनी चाहिए, दिल्ली ही नही साहिब..इस बार, देश का हर कोना हर बस्ती दिलवाली होनी चाहिए, इस बार मस्जिदों मे दीप जलने चाहिए, इस बार मंदिरो मे कव्वाली होनी चाहिए, लोगो की तो बहुत देखी हैं हमने, इस बार ‘मजहबो की दीवाली’ होनी चाहिए!!

तमाम जहान जगमगया, फिर से त्यौहार रोशनी का आया, कोई तुम्हे हमसे पहले ना देदे बधाइयाँ, इसलिए, ये पैगाम ए मुबारक सबसे पहले हमने भिजवाया, “दीवाली मुबारक”

आज दीपावली मनाने से पहले देश के उन वीरों को भी याद करें जो दिन-रात हमारे चैन-सुख के लिये सीमा पर निगरानी रखते हैं.

दिवाली के बाद की सुबह उनके लिये बड़ी खुशियाँ लेकर आती है… कुछ पटाखे तुम बिना जले ही फेँक दिया करो यारो..

मिट्टी की भी कीमत बढ़ जाती है पटाखों के धुएँ में दुनिया गाँव की चूल्हे वाली रसोई नज़र आती है ..

Raat Diwali Ki Hai Magar Kismat Mein Andhera Hai, Na Chhate Yeh Gham Ke Badal, Na Aaya Savera Hai, Juda Hamara Hona Yun, Likha Lakiron Mein Tha Magar, Is Mein Kasoor Eh Sanam Na Tera Na Mere Hai.

Diwali Tum Bhi Manaate Ho, Diwali Hum Bhi Manaate Hai, Bus Farq Sirf Itnaa Hai Ki, Hum Diye Jalaate Hain, Aur Tum Dil Jalaate Ho.

Zamane Bhar Ki Yad Me Mujhe Na Bhula Dena, Jab Kabhi Yaad Aaye To Zara Muskura Lena, Zinda Rahe Toh Phir Milnge, Varna Diwali Me Ek Diya Mere Nam Ka B Jala Lena.

Roshani bhi hogi, honge chiraag bhi Awaaz bhi hogi, honge saaz bhi Par na hogi uski parchaai, na uski aaahat Bohot sooni hogi yeh diwali Bin sanam kaise milegi mujhe raahaat.

Bewafai se uski jal raha hai mera dil, ise aur na jalaye kehdo in diyo se ye yun khushiyo ki diwali na manaye

Tamaan jahaan jagmagaya, Fir seTyohar Roshni ka aaya, Koi tumhe hamnse pehle Na dede badhayian, Isliye, ye paigam e mubarak sabse pehle humne bhijwaya “Diwali Mubarak“




Share this :