Sad Status In Hindi




जितना बदल सकते थे बदल लिया खुद को , अब जिसको तकलीफ है वो अपना रास्ता बदले जिसको सुनना है वो सुनता नहीं , दुनिया खामखां कान लगाए बैठी है

 

*न ज़ख्म भरे, न शराब सहारा हुई न वो वापस लोटी.. न मोहब्बत दोबारा हुई..!* *याद में नशा करता हूँ…. और नशे में याद करता हूँ..!

 

*मुझे रिश्तो की, लम्बी कतारों से मतलब नहीं..!* *कोई दिल से हो मेरा तो एक शख्स ही काफी है..!

 

*कभी-कभी हम ग़लत नहीं होते *लेकिन* *हमारे पास वो शब्द ही नही होते* *जो* *हमें सही साबित कर सकें…….

 

*यादों की अर्थी तन्हाई का कफन गम का तकिया* *इंतजाम तो सब हो गया बस नींद का आना बाकी है…*

 

*मीलों का सफर* *पल में बर्बाद कर गया* *अपनों का ये कहना* *कहो,.. कैसे आना हुआ?*🙏

 

*अब कहा चलते हैं प्यार बरसों तक_* *_मिटा के जिस्म की प्यास लोग मुंह फेर लेते हैं.*

 

तैरता हुआ कागज मेरा लौट आया वापस_ ♠❤ _उस किनारे पर भीड बहुत थी उनके चाहने वालो की…

 

*मेरे ठोकरें खाने से भी, कुछ लोगों को जलन हैं..!* *कहतें हैं यूँ तो ये शख्स, तजुर्बे में आगे निकल जाएगा..!🙇!*

 

उसको शब्दों में बयां कैसे करू , वो मेरे लिए इक इंसान , नहीं इक दौर था ।।



मौसम की मिसाल दूँ या नाम लूँ तुम्हारा,,, कोई पूछ बैठा है बदलना किसको कहते हैं..

 

तूझे पाने की हसरत में कब तक तडपता रहूंगा कोई ऐसा धोखा दे कि मेरी आस टूट जाए… .

 

जितनी शिद्दत से मुझे ज़ख्म दिए है उसने, इतनी शिद्दत से तो मैंने उसे चाहा भी नहीं था।

 

इतनी उदास बातें, इतना उदास लहजा , लगता है की तुम को भी, हम सा ही कोई गम है.. .

 

बड़े अजीब से हो गए रिश्ते आजकल… सब फुरसत में हैं पर वक़्त किसी के पास नही…!!

 

कभी उस ख्याल से डर लगता था कि उससे दूर हो कर कैसे जिऐंगे , और आज उस ख्याल में जिंदगी कट रही है ।

 

स्वयं से दूर हो तुम भी, स्वयं से दूर है हम भी बहुत मशहुर हो तुम भी, बहुत मशहुर है हम भी… . बड़े मगरूर हो तुम भी, बड़े मगरूर है हम भी अत : मजबुर हो तुम भी, अत : मजबुर है हम भी… .

 

न जाने किस तरह का इश्क कर रहे हैं हम, जिसके हो नहीं सकते उसी के हो रहे हैं हम….

 

उसके लिये तो मैंने यहा तक दुआएं की है,,,कि कोई उसे चाहे भी तो बस मेरी तरह चाहे,,!!

 

*मन को समझाया था मैंने.. इस इश्क़-विश्क से दूर रहो….!!!* *पर ये मन.. मन ही मन में.. अपनी “मनमानी” कर बैठा….!!!*

 

*नसीब ने पूछा “बोल क्या चाहिए”…* *ख़ुशी क्या मांग ली,,”खामोश हो गया…*

 

रहे न कुछ मलाल बड़ी शिद्दत से कीजिये… नफरत भी कीजिये तो ज़रा मोहब्बत से कीजिये…




Share this :